मीटूबेननी अपोइंटमेंट! (ढिंग टांग)

ब्रिटिश नंदी
मंगळवार, 16 ऑक्टोबर 2018

मोटाभाई : (डुलत डुलत येत) जे श्री क्रष्ण..!
नमोजी : (विचारमग्न) हं!
मोटाभाई : (किंचित नाराजीनं) शुं विचार करो छो?
नमोजी : (विचारमग्नता कंटिन्यू...) हं...हं!
मोटाभाई : (कुतुहलानं) राफेलनो घपलो?
नमोजी : (कपाळाला आठी) ना बाबा!
मोटाभाई : (आणखी कुतुहलानं) पेट्रोल?
नमोजी : (आणखी एक आठी...) ना बाबा ना!
मोटाभाई : (आता संशयानं) डोलर?
नमोजी : (हात झटकत) डोलरना शुं काम?
मोटाभाई : (चुटकी वाजवत) सांभळ्यो! मीटू!!
नमोजी : (घाईघाईने) अरे भाई जरा हळू बोल ने! क्‍येवडा जोरात ओरडते!!

मोटाभाई : (डुलत डुलत येत) जे श्री क्रष्ण..!
नमोजी : (विचारमग्न) हं!
मोटाभाई : (किंचित नाराजीनं) शुं विचार करो छो?
नमोजी : (विचारमग्नता कंटिन्यू...) हं...हं!
मोटाभाई : (कुतुहलानं) राफेलनो घपलो?
नमोजी : (कपाळाला आठी) ना बाबा!
मोटाभाई : (आणखी कुतुहलानं) पेट्रोल?
नमोजी : (आणखी एक आठी...) ना बाबा ना!
मोटाभाई : (आता संशयानं) डोलर?
नमोजी : (हात झटकत) डोलरना शुं काम?
मोटाभाई : (चुटकी वाजवत) सांभळ्यो! मीटू!!
नमोजी : (घाईघाईने) अरे भाई जरा हळू बोल ने! क्‍येवडा जोरात ओरडते!!
मोटाभाई : (मान हलवत) आ मीटूबेननो कछु करवु पडशे भाई! मीटूबेन बहु भडकीली छे!!
नमोजी : (बुचकळ्यात पडत) कोण मीटूबेन?
मोटाभाई : (च्याट पडत) लो करलो वात! बाहर एक बेन खडी छे, कहे छे के मने अमणाज मळवानुं छे!!
नमोजी : (हादरून) मने?
मोटाभाई : (डोळे गरागरा फिरवत) लो करलो वात! तमारीच अपोइंटमेंट मांगे छे आ बेन!! एकवार भेटून घ्येवा त्या बेनला! तिचा काय म्हणणा हाय ते समजला तर आपडा इलेक्‍सन इज्जी होणार ने!! मळी लो एने!!
नमोजी : (तोबा तोबा करत) ना बाबा ना! हुं तो नथी मळीश!
मोटाभाई : (संयमानं) तमे तो कछु बोलतोज नथी! तुम्ही मूग गिळूनशी बसला काय? एटला बद्धा बव्हाल थई गया इंडिया मां!! आ मीटूबेननी किती लोच्या केला खबर छे? आख्खा होल इंडियाच्या सूपडा साफ झ्याला!!
नमोजी : (दाढी खाजवत) शुं कहे छे आ मीटूबेन?
मोटाभाई : (तर्जनी आणि अंगठा जोडून) आ कहे छे के...अच्छे दिन येणार म्हणून तुम्ही बोलले, पण तुम्ही आल्यापासून एक पण अच्छा दिन नथी आव्या! उल्टा बहु बेड दिन आवी गया छे!!
नमोजी : (चिंताग्रस्त) एवु कहे छे मीटूबेन? पण एनी कंप्लेट तो पुरानी छे ने? कोंग्रेस होती, तवापासून मीटूबेनच्या सोसण होत आहे...आ खरेखर कोंग्रेसनु पाप छे!!
मोटाभाई : (टाळीसाठी हात पुढे करत) चोक्‍कस! आ बहु सरस आर्ग्युमेंट छे! मीटूच्या बद्धा केसेस कोंग्रेसच्या टायमालाच झाल्या!
नमोजी : (भाषणाच्या थाटात)... मित्रों, इस काँग्रेसने देश को खोखला कर दिया है, खोकला! इनके राज में हमारी बहू-बेटियों का बहुत नुकसान हुआ है, उनके आत्मसम्मान को ठेंस पहुंचाने की कोशिश हुई है! हुई है के नही हुईं है मेरे प्यारे...
मोटाभाई : (भक्‍तिभावाने) हुई है ने, भाई, हुई है!
नमोजी : (भाषण पुढे चालू...)....हम बेटी बचानेवाले लोग हैं, मित्रोऽऽ.. उसका हम शोषण नहीं होने देंगे! गांवगांव में हमारी बहू-बेटियाँ चूल्हे फूंक कर अपना जीवन कम करती थी, उज्ज्वला योजना के तहत हमने...
मोटाभाई : (घाईघाईने) गेसनी सबसिडी, यूरिया आ बद्धा टोपिक एकदम बंद करजो नमोजीभाई हवे! बहु थया!
नमोजी : (दुर्लक्ष करत)... कभी आपने अपने होनहार लडके को पूछा है की सात बजे के बाद तू क्‍या कर रहा था? घर क्‍यों नहीं आया?
मोटाभाई : (मूळ विषयावर येत) आपडो अकबरभाईनी उप्पर मीटूबेननी गाज आवी गई! हवे शुं करवानुं? तुम्ही एकवार मीटूबेनला भेटून घ्या ने! सबकुछ ठीक होऊन ज्याणार!
नमोजी : (मेजाखाली दडत) एने कहो के हुं घरे नथी! जाओ!!

Web Title: editorial dhing tang british nandi article